खेल जगत में छाई शोक की लहर, पूर्व मुक्केबाज़ Dingko Singh का निधन

स्पोर्ट्स डेस्क : बुरी खबरों का दौर थमने का सिलसिला जैसे जारी है. आए दिन एक बुरी खबर ऐसी आती है, जो हर किसी को एक गहरा सदमा दे जाती है. अब खेल जगत से भी एक बुरी खबर सामने आयी है, जिसने सबको ग़मगीन कर दिया है. एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता डिंको सिंह (Dingko Singh death) का गुरूवार को निधन हो गया है. उनके निधन की खबर सामने आने पर खेल जगत में शोक की लहर छा गयी है. 

कैंसर ने ली मशहूर मुक्केबाज़ की जान 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, स्वर्ण पदक विजेता डिंको सिंह (Dingko Singh death)  की मौत कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के कारन हुआ है. वो साल 2017 से इस बिमारी से जिंदगी की जंग लड़ रहे थे लेकिन आखिरकार गुरूवार को उन्होंने अपना दम तोड़ दिया. 42 साल की उम्र में डिंको सींग के जाने से खेले जगत को बड़ी क्षति पहुंची है, खेल मंत्री कीरेन रीजीजू ने ट्वीट किया, ''मैं ​श्री डिंको सिंह के निधन से बहुत दुखी हूं . 

विजेंद्र सिंह ने भी जताया शोक 

पूर्व मुक्केबाज़ डिंकू सिंह (Dingko Singh death) के निधन पर मुक्केबाज़ विजेंद्र सिंह ने भी ट्वीट करते हुए शोक जताया है. ओलम्पिक में पदक जीतने वाले मुक्केबाज़ विजेंद्र सिंह ने लिखा है ''इस क्षति पर मेरी हार्दिक संवेदना. उनका जीवन और संघर्ष हमेशा भावी पीढ़ियों के लिये प्रेरणास्रोत रहेगा. मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि शोक संतप्त परिवार को दुख और शोक की इस घड़ी से उबरने के लिये शक्ति प्रदान करे. 

पद्म श्री से सम्मानित थे डिंकू सिंह 


कहा जाता है की एक डिंकू सिंह(Dingko Singh death) भारत  के श्रेष्ठ मुक्केबाज़ों में से एक थे. खेलों में उनके योगदान के लिये उन्हें 2013 में पदम श्री से सम्मानित किया गया था. नौसेना में काम करने वाले डिंको मुक्केबाजी से संन्यास लेने के बाद कोच बन गये थे. 


Leave Comments