liveindia.news

अब चीन की आईपीएल से भी छुट्टी

देश में कोरोना वायरस महामारी इन दिनों अपने चरम पर है. वहीं दूसरी चीन द्वारा भारतीय सैनिकों पर किये गए हमले के बाद से देश की जनता में काफी आक्रोश है. चीन के इस रवैये को देखते हुए अब लोग भारत में चीनी कंपनियों के उत्पादों का बहिष्कार कर रहे हैं. इतना ही नहीं अब भारत सरकार द्वारा भी 55 चीनी ऐप्स को देश में बन कर दिया गया है. इतना सब हो जाने के बाद अब भारत चीन को एक और बड़ा झटका देने के  लिए तैयार है.

दरअसल अब भारत चीन की आईपीएल से भी छुट्टी करने के लिए तैयार है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आईपीएल की टीम किंग्स इलेवन पंजाब के सह मालिक नेस वाडिया ने इंडियन प्रेमियर लीग में चीन की कंपनियों की स्पोंसरशिप को धीरे-धीरे खत्म करने की मांग की है. पूर्वी लद्दाख में चीन की गतिविधियों और दोनों देश के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए नेस वाडिया ने इस बात की मांग की है. 

आपको बता दें की वाडिया ने मंगलवार को एक न्यूज़ एजेंसी पीटीआई से कहा, 'हमे देश की खातिर आईपीएल में चीन के स्पोंसर्स की हिस्सेदारी कम करनी चाहिए. यह इंडियन प्रेमियर लीग है न की चीन प्रीमियर लीग. देश पहले आता है और पैसा बाद में आता है. हमे चीन को एक उद्धरण पेश करना चाहिए. मान की शुरुआत में स्पोंसर्स ढूंढना थोड़ा मुश्किल होगा, लेकिन भारत में ऐसे कई स्पोंसर्स है जो इनकी जगह ले सकते हैं. इसलिए हमे ऐसा करना चाहिए. 
 

 


Leave Comments