अस्पताल प्रशासन की लोपरवाही, फर्रुखाबाद जिला अस्पताल में 49 बच्चों की मौत

उत्तर प्रदेश सरकार ने फर्रुखाबाद जिला अस्पताल में पिछले एक माह के दौरान अस्पताल में भर्ती 49 बच्चों की मौत के मामले में सख्त रख अपनाते हुए जिला अधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी और महिला अस्पताल की मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को हटा दिया है. ये मौतें फर्रुखाबाद स्थित डॉ. राम मनोहर लोहिया राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में हुई हैं. जांच रिपोर्ट में इन बच्चों की मौत की वजह ऑक्सीजन व दवाओं की कमी और इलाज में लापरवाही बताई गई है.

पिछले महीने अगस्त में ही गोरखपुर स्थित बीआरडी अस्पताल में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी की वजह से कई नवजातों की मौत हो गई थी. इससे प्रदेश सरकार की काफी किरकिरी हुई थी. फर्रुखाबाद के एसपी दयानंद मिश्रा ने बताया कि इस मामले में सीएमओ, सीएमएस और लोहिया अस्पताल के कुछ डॉक्टरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

BRD मेडिकल कॉलेज से प्राप्त जानकारी के अनुसार, इस वर्ष जनवरी में 152 बच्चों की मौत हुई, फरवरी में 122, मार्च में 159, अप्रैल में 123, मई में 139, जून में 137, जुलाई में 128 और अगस्त में 325 बच्चों की मौत हो चुकी है. सितंबर के पहले दो दिन की 32 मौतों को मिला लें तो इस साल अब तक मेडिकल कॉलेज में 1317 बच्चों की मौत हुई.


Leave Comments