योगी आदित्यनाथ के इस बयान पर मचा सियासी घमासान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने एक बयान के बाद विवादों में घिर गए हैं. एक कार्यक्रम के दौरान सीएम ने कहा कि अपने वातावरण को साफ-सुथरा रखने के लिए लोगों में सिविक सेंस (नागरिक बोध) नहीं है. अगर उनके घरों के बाहर कूड़ेदान रख दिए जाएं तो उसे भी उठाकर अपने घर के अंदर रख लेंगे. लोग अपनी सारी जिम्मेदारी सरकार के ऊपर डाल देते हैं. उन्होंने कहा कि यही हाल रहा तो एक दिन ऐसा आएगा कि बच्चे पैदा करेंगे और उसके एक-दो साल बाद कहने लगेंगे कि इनका लालन-पालन सरकार करे. हालांकि, उनके इस बयान की निंदा भी हो रही है. कांग्रेस ने योगी के इस बयान को गैर-जिम्मेदाराना करार दिया. योगी बुधवार को साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में स्टार्टअप यात्रा के शुभारंभ के अवसर पर अपने विचार रख रहे थे. उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्टार्टअप के लिए एक हजार करोड़ रुपये का कॉर्पस फंड बनाया जाएगा. किसी भी युवा को स्वरोजगार शुरू करने के लिए फंड की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी.


Leave Comments