liveindia.news

बीजेपी में बड़ी बगावत, 12 भाजपा विधायकों का इस्तीफा!

बीजेपी में बड़ी बगावत, 12 भाजपा विधायकों का इस्तीफा!

बीजेपी में बड़ी बगावत, 12 भाजपा विधायकों का इस्तीफा!

देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले बीजेपी की मुसिबते बढ़ती ही जा रही है. उत्तराखंड में चुनावों से पहले बीजेपी में बगावत तेज होती जा रही है. बीजेपी के कई विधायक कांग्रेस में आने की तैयारी में है. पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य और उनके विधायक पुत्र संजीव आर्य के कांग्रेस का हाथ थामने के बाद अब हरिश रावत ने दावा किया है कि एक दर्जन बीजेपी विधायक उनके संपर्क में है. लेकिन कांग्रेस अब उन विधायकों को पार्टी में वापस नहीं लेगी, जिन्होंने 2017 के विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी से बगावत की थी. ऐसे लोग अगर पार्टी में आना चाहते है, तो उन्हें पार्टी की शर्ते माननी होगी. हरिश रावत के बयान से बीजपी की नींद उड़ गई है. 

बीजेपी को झटका, कैबिनेट मंत्री कांग्रेस में शामिल

आर्य की वापसी से बढ़ी बीजेपी की परेशानी

उत्तराखंड बीजेपी में हलचल मची हुई है. यशपाल आर्य के कांग्रेस में वापसी के बाद अब बीजेपी की परेशानी बढ़ गई है. खास तौर पर कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और रायपुर विधायक उमेश शर्मा के बगावती तेवरों ने पार्टी को चिंता में डाल दिया है. हरक रावत तो लगातार पार्टी के खिलाफ बोलते दिख रहे है. दावा तो यहां तक किया जा रहा है कि वो कांग्रेस में वापसी की राह तलाश रहे है. जबकि उमेश शर्मा काउ के बारे में तो यह तक दावा किया जा रहा है कि वो कांग्रेस मुख्यालय तक पहुंच गए थे. उनके कांग्रेस में जाने की खबरे भी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल होने लगी थी. लेकिन बाद में खबर आई की काउ कांग्रेस मुख्यालय से लौटकर अनिल बलूनी के पास पहुंच गए. उमेश को कांग्रेस में जाने से रोकने के लिए बीजेपी अब उनकी हर मांग मानने को तैयार भी दिख रही है. 

उत्तरप्रदेश में किसकी बनेगी सरकार, सामने आया सर्वे

एक दर्जन विधायक जा सकते है कांग्रेस में 

जल्द ही मंत्रिमंडल विस्तार में उन्हें यशपाल आर्य की जगह शामिल किया जा सकता है. साथ ही उन्हें ये भी ऑफर दिया गया है कि वो जहां से चाहे वहां से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते है. लेकिन उमेश शर्मा कांग्रेस के संपर्क में अभी भी है. कांग्रेस में वापसी से पहले वो टिकट का ठोस आश्वासन चाहते है. उनका टिकट पक्का होते ही वो दलबदल भी कर सकते है. लेकिन बीजेपी की सबसे बड़ी चिंता हरक रावत को लेकर है. क्योंकि हरक रावत के नेतृत्व में ही 2017 के उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस में बगावत हुई थी और कई विधायक कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए थे.

बीजेपी को झटका, कैबिनेट मंत्री कांग्रेस में शामिल

हरक रावत अपने बयानों से कई बार बीजेपी की मुसिबते बढ़ाते रहे है. इस बार वो बीजेपी से नाराज चल रहे है. हरक पहले ही कह चुके है कि इस बार वो विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे. इसे भी उनकी नाराजगी से जोड़कर देखा जाने लगा है. हरक को मनाने की कोशिशे भी चल रही है और बीजेपी की चिंता है कि अगर हरक रावत कांग्रेस में वापस गए तो, उनके साथ आधा दर्जन से ज्यादा विधायक भी कांग्रेस में जा सकते है. चुनाव से पहले अगर बीजेपी से कांग्रेस में इतना बड़ा दलबदल हुआ तो उपचुनाव में बीजेपी हार तय हो जाएगी.


Leave Comments