liveindia.news

कल से शुरू होगी चारधाम यात्रा, जान लें नए नियम

देश में कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन के कारण, हिन्दू धर्म की महत्वपूर्ण चारधाम यात्रा भी प्रभावित हुई थी. लेकिन अब श्रद्धालुओं के लिए एक अच्छी खबर है. दरअसल, उत्तरखंड सरकार के नियंत्रण वाले चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड ने सोमवार को राज्य के निवासियों को 1 जुलाई से बद्रीनाथ, केदारनाथ सहित सभी चार धामों के दर्शन की अनुमति दे दी है. 

आपको बता दें की प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन ने इस संबंध में यहां आदेश जारी करते हुए कहा की कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले लोगों को किसी भी धाम क्षेत्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी. 

यह हैं नए नियम 
राज्य में रहने वाला कोई व्यक्ति अगर राज्य के बाहर से यात्रा करके आया है तो उसे क्वारंटाइन की अवधि को पूरा करने के बाद ही चारधामों के दर्शन के लिए अनुमति दी जाएगी.

यात्रा करने वाले व्यक्ति को यात्रा शुरू करने से पहले देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण अनिवार्य रूप से कराना होगा. श्रद्धालुओं को अपनी पूरी जानकारी देनी होगी. 

यात्रा की सभी शर्तों को स्वीकारना होगा, इसके बाद एक ई पास जारी किया जाएगा. 

साथ ही एक धाम में केवल एक रात रुकने की ही अनुमति होगी. 

किसी भी ऐसे व्यक्ति जिसे आम फ्लू के लक्षण भी होंगे तो उसे यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी. 

65 उम्र से ज़्यादा के व्यक्ति, 10 साल से छोटे बच्चे, गर्भवती महिलाएं और किसी अन्य रोग से ग्रसित लोगों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी.

यात्रा के दौरान मास्क, हैंड सेनिटाइजर और समाजिक दुरी का पालन करना अनिवार्य होगा.

धाम में घुसने से पहले श्रद्धालुओं को बाहर ही हांथ और पैर धोने होंगे.

बाहर से किसी भी तरह का कोई प्रसाद का चढ़ावा लाना सख्त मना होगा. 

श्रद्धालुओं को गर्भग्रह में प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी. 

 


Leave Comments