liveindia.news

स्वामी Ramdev Baba को 1000 करोड़ रूपए का नोटिस

स्वामी Ramdev Baba को 1000 करोड़ रूपए का नोटिस

उत्तराखंड डेस्क : अपने योग आसान और आयुर्वेदिक दवाईओं से घर-घर में पहचान बनाने वाले स्वामी रामदेव बाबा की अब मुश्किलें बढ़ने लगी है. वैसे तो बाबा केवल आयुर्वेदिक की दवाओं का प्रचार करते हैं, लेकिन इस बार बाबा रामदेव (Ramdev Baba) ने एलोपैथी (allopathy) की दवाओं को लेकर एक ऐसा बयान दे दिया है, जिसके कारण उनके ऊपर मानहानि का केस दर्ज किया गया है. 


दरअसल, स्वामी रामदेव बाबा  (Ramdev Baba) का सोशल मीडिया पर कुछ दिनों पहले एक वीडियो वायरल हुआ था, इस वीडियो में रामदेव बाबा खुद एलोपेथी को बुरा बता रहे है. वायरल वीडियो में बाबा ने एलोपेथी को बकवास विज्ञान बताया है. बाबा रामदेव ने कोरोना काल में इस्तेमाल की जा रही एलोपेथी की दवाओं को भी बेकार बताया. जिसके बाद इस मामले पर विवाद बढ़ गया . इसी को लेकर आईएमए उत्तराखंड ने योग गुरु बाबा रामदेव को 1000 करोड़ का मानहानि नोटिस भेजा है और कहा है की अगर अगले 15 दिनों के भीतर लिखित माफी नहीं मांगता है, तो उससे 1,000 करोड़ रुपए की डिमांड की जाएगी. 

रामदेव बाबा के इस बयान के सामने आने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी  एलोपैथी के बारे में दिए गए योग गुरु रामदेव  (Ramdev Baba) के बयान को रविवार को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए उन्हें इसे वापस लेने को कहा था, जिसके बाद रामदेव ने बयान वापस ले लिया था. लेकिन बाद में बाबा रामदेव ने अपने बयान को वापस लेने के लिए मजबूर किए जाने के बाद सोमवार को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) से 25 सवाल पूछे थे. 


 इन 25 सवालों में बाबा  (Ramdev Baba) ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से उन तमाम बीमारियों के स्थाई इलाज  के बारे में सवाल किये जिससे आज लगभग हर तीसरा भारतीय ग्रसित है. बाबा रामदेव द्वारा आईएमए से पूछे गए यह सवाल सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहे है. 


Leave Comments