liveindia.news

उत्तराखंड के बाद ममता की बारी, देंगी इस्तीफा!

उत्तराखंड के बाद ममता की बारी, देंगी इस्तीफा!

उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद बीजेपी ने पुष्कर धामी को राज्य का अगला मुख्यमंत्री घोषित किया है. तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे की खबर के बाद देश की राजनीति में भूकंप तो आया ही साथ ही पश्चिम बंगाल में भी सियासी भूकंप की आहट सुनाई देने लगी. दरअसल, ममता बनर्जी इस उम्मीद में बैंठी थी कि तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाए रखने के लिए बीजेपी कोई हल निकालेगी ताकि चुनाव हो सके. ममता बनर्जी की उम्मीदे इसी वजह से तीरथ सिंह रावत के उपुचनाव पर टीकी थी. 

लेकिन तीरथ सिंह रावत के पद से इस्तीफा देने के बाद ममता बनर्जी की उम्मीदों पर पानी फिरता नजर आने लगा है. वजह ये कि कोरोना की दूसरी लहर जिस तरह से कमजोर हुई, ठीक उसी रफ्तार से तीसरी लहर की आशंका जताने लगी है. वही चुनाव आयोग ने भी सारे उपचुनाव को फिलहाल के लिए टाल दिए है, सीएम बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत को सितंबर तक विधानसभा का सदस्य बनने के लिए उपचुनाव जीतकर आना था. हालांकि उत्तराखंड में दो विधानसभा की सीटें भी खाली थी, लेकिन चुनाव आयोग ने देश में होने वाले उपुचनावों पर रोक लगा दी. नतीजा तीरथ सिंह रावत को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा. 

ममता देंगी इस्तीफा!

कुछ ऐसा ही हाल बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का है. ममता बनर्जी भी नंदीग्राम से चुनाव हार चुकी है और बिना विधानसभा का सदस्य बने मुख्यमंत्री बनी है. उनकी कुर्सी सलामत रहे इसके लिए 4 नवंबर से पहले उन्हें विधानसभा का सदस्य बनना होगा. लेकिन तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद लगता नहीं की ममता बनर्जी के लिए चुनाव आयोग चुनाव करवाने की इजाजत देगा, क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो चुनाव आयोग को कई राज्यों की सीटों पर उपचुनाव कराने होंगे. लेकिन इस कोरोना काल में उपुचनाव कराना मुमकिन नहीं है. संकेत साफ है कि ममता बनर्जी को 4 नबंवर को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है. 

तीरथ सिंह रावत ने जब अपने पद से इस्तीफा दिया था, उस दौरान रावत ने जो कहा उससे ममता को भी खास संदेश है. तीरथ सिंह रावत ने कहा था कि मैंने संविधान संकट की वजह से राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है. राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर सेवाएं देने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और जेपी नड्डा का आभार व्यक्त करता हूं. अब तीरथ के इस्तीफें के बाद तो उत्तराखंड को अगला मुख्यमंत्री तो मिल गया है, लेकिन अब इस संविधान की संकट की घड़ी में क्या ममता बनर्जी अपने पद से इस्तीफा देंगी? और अगर ममता बनर्जी अपने पद से इस्तीफा देती है तो बंगाल का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा. यह तो देखना अभी बाकी है.

बीजेपी की रणनीति!

राजनैतिक जानकारों का मानना है कि देश में उपचुनाव नहीं होना, यह बीजेपी की बड़ी रणनीति हो सकती है. जानकारों का कहना है कि बीजेपी चाहती तो चुनाव आयोग से बातचीत करके दोनों राज्यों में उपचुनाव करा देती, लेकिन बीजेपी ने ऐसा नहीं किया. क्योंकि बीजेपी बंगाल में फिर से चुनाव कराना चाहती है. हालांकि बंगाल में फिर से चुनाव होंगे या फिर ममता बनर्जी उपचुनाव लड़कर गद्दी पर बनी रहेंगी या फिर ममता को इस्तीफा देना पड़ेगा, यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा.


Leave Comments