Khela Hobe Scheme : बंगाल में अब Khela होता रहेगा

पश्चिम बंगाल डेस्क : बंगाल विधानसभा चुनाव तो समाप्त हो गए है लेकिन अभी भी राज्य की राजनीती में हलचल होती रहती है. बंगाल चुनाव में टीएमसी द्वारा दिया गया नारा ''खेला होबे' काफी चर्चा में आया था. खेला होबे के स्लोगन को लेकर ही टीएमसी ने बंगाल चुनाव में अपनी एक अलग पहचान बनाई थी. लेकिन टीएमसी का यह खेला (Khela Hobe Scheme)   अब चुनाव के बाद भी चलता रहेगा. 

खेला होबे स्कीम का हुआ ऐलान 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की सरकार बनने के बाद अब स्लोगन खेला होबे (Khela Hobe Scheme)  को एक योजना के रूप में शुरू करने के ऐलान किया गया है.  बंगाल में खेला होबे स्कीम लॉन्च की गई है. इसके अंतर्गत अब राज्य सरकार के खेल डिपार्टमेंट के द्वारा क्लब को फुटबॉल बांटी जाएंगी. 

खेल को बढ़ावा देने के लिए लांच की गयी स्कीम 

युवाओं में खेल के प्रति रुचि बढ़ाने और फुटबॉल में हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा खेला होबे स्कीम (Khela Hobe Scheme)   के तहत क्लब को फुटबॉल बांटी जाएगी, ताकि बड़ी संख्या में युवा खेल सकें. राज्य सरकार का उद्देश्य है कि खेला होबे स्कीम के जरिए राज्य में फुटबॉल की लोकप्रियता को बढ़ावा दिया जाए. बता दें कि बंगाल में फुटबॉल का खेल पहले से ही लोकप्रिय है.'


चुनाव में चला था खेला होबे का जादू 

आपको याद दिला दें कि, बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने इस स्लोगन के जरिये ही भारतीय जनता पार्टी को निशाना बनाया था. मीडिया की हेडलाइंस में भी खेला होबे खूब (Khela Hobe Scheme)   छाया रहा था. वहीं अब इसी स्लोगन को ध्यान में रखते हुए इस नयी स्कीम को शुरू किया गया है.  


Leave Comments