liveindia.news

ममता को झटका, टल सकता है भवानीपुर उपचुनाव!

ममता को झटका, टल सकता है भवानीपुर उपचुनाव!

पश्चिम बंगाल की भवानीपुर सीट पर उपचुनाव होना है. भवानीपुर सीट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद उम्मीदवार है. लेकिन भवानीपुर विधानसभा का उपचुनाव टल सकता है. जिससे ममता बनर्जी की मुसीबते खडी हो सकती है. दरअसल, भवानीपुर उपुचनाव के लिए बीजेपी टीएमसी ने चुनाव प्रचार में अपनी ताकत झौंक दी है. लेकिन आज अंतिम दिन चुनाव प्रचार के दौरान टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष पर हमला कर दिया और बीजेपी कार्यकर्तााओं के साथ मारपीट की.

दिलीप घोष ने कहा है कि आज जब में भवानीपुर में बीजेपी की उम्मीदवार प्रियंका टिबडेवाल के समर्थन में प्रचार करने गया तो, उसी दौरान एक भीड़ ने मुझ से धक्का-मुक्की की और हमारे कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की. दिलीप घोष ने मारपीट का आरोप टीएमसी पर लगाया है. उन्होंने कहा है कि राज्य में कानून व्यवस्था के जो हालात है, ऐसे में निष्पक्ष चुनाव संभव नहीं है. बीजेपी के नेता जब प्रचार करने के लिए जाते हैं, तो ममता की पुलिस कोरोना नियमों का उल्लंघन का मामला दर्ज कर लेती है. वही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर में गुंडों की भीड़ हम पर हमला करती है.

चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

मामले का लेकर चुनाव आयोग ने राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है. वही बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने चुनाव आयोग पर हमला बोलते हुए कहा है कि वे कुछ नहीं कर रहे हैं. साथ ही बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने चुनाव आयोग से भवानीपुर का उपचुनाव फिलहाल के लिए टालने की मांग की है.

ममता के लिए उपचुनाव बेहद जरूरी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए भवानीपुर का उपचुनाव बेहद जरूरी है. क्योंकि ममता बनर्जी नंदीग्राम से चुनाव हार गई थी. ममता को उनके करीबी रहे और टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए शुभेंन्दु अधिकारी ने चुनाव हरा दिया था. लिहाजा ममता बनर्जी को 5 नवंबर तक विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी है, नहीं तो ममता बनर्जी को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ेगा. 

 


Leave Comments