liveindia.news

बंगाल में केंद्रीय बलों की तैनाती, चुनाव प्रक्रिया से दूर रहेगी राज्य पुलिस

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होना है. और इन विधानसभा चुनावों के चलते प्रदेश की राजनीति गर्मायी हुई है. वहीं ये भी जानकारी मिली है कि इन विधानसभा चुनावों में ममता बनर्जी और उनकी फौज की मनमानी नहीं चलेगी. चुनाव आयोग ने ये साफ कर दिया है कि पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों में केंद्रीय बलों की तैनाती की जाएगी.

बंगाल में केंद्रीय बलों की तैनात-

चुनाव आयोग ने ये कहा है कि बंगाल में बड़े पैमाने पर चुनावों के समय केंद्रीय बलों को तैनात किया जाएगा और राज्य पुलिस को चुनाव की प्रक्रिया से पूरी तरह दूर रखा जाएगा. और ऐसा सिर्फ इसलिए हो रहा है क्योंकि पिछले दिनों सीएम ममता बनर्जी और उनकी फौज ने जमकर मनमानी की है.

बीजेपी नेताओं की चुनाव आयोग से शिकायत-

कई बार बीजेपी के नेताओं ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से भी की. इतना ही नहीं बीजेपी ने तो चुनावों के पहले बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने तक की मांग की थी, लेकिन उनकी ये मांग पूरी नहीं हो पाई. हालांकि बीजेपी की शिकायतों के बाद चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल का दौरा भी किया था.

बीजेपी के TMC पर आरोप-

बंगाल में हुई बीजेपी की सभाओं और रैलियों पर पथराव भी हुए और बीजेपी के नेताओं ने आरोप लगाए की TMC कार्यकर्ताओं से ममता बनर्जी ने ये हमले करवाए हैं. साथ ही पिछले दिनों कोलकाता में एक बीजेपी नेता पर ईंटों से हमला किया गया था. जिसके बाद बीजेपी ने आरोप लगाए थे कि हार के डर से TMC कार्यकर्ता बीजेपी नेताओं पर हमले कर रहे हैं. वैसे बता दें कि पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा का काफी लंबा इतिहास रहा है, ऐसे में ये सवाल उठना लाजमी है कि क्या बंगाल के चुनाव हिंसामुक्त होंगे.

 


Leave Comments